एन.एस.एस. (राष्ट्रीय सेवा योजना):

शिक्षा को समाजोन्मुखी बनाने की दशा में राष्ट्रीय सेवा योजना एक महत्वपूर्ण कदम है भारत सरकार की इस योजना का प्रमुख उद्देश्य समाज सेवा के माध्यम से छात्रों के व्यक्तित्व का विकास तथा उनमें रचनात्मक नेतृत्व की क्षमता पैदा करना एवं उनमें परस्पर सहयोग, मैत्री भाव, श्रम की प्रतिष्ठा, आत्मानुशासन आदि गुणों का विकास करते हुए सृजनात्मक कार्यों में सहभागी बनाना है। ताकि वे सामाजिक विकास तथा राष्ट्रीय नीतियों के क्रियान्वयन में योगदान दे सकें। इस योजना में स्नातक कक्षा का कोई भी विद्यार्थी जो समाज सेवा में अभिरूचि रखता हो, सम्मिलित हो सकता है। इसका पाठ्यक्रम 2 वर्षों का है। इस अवधि में छात्र को कम से कम 240 घण्टे का कार्य पूरा हो जाने पर छात्र को जीवाजी विश्वविद्यालय द्वारा प्रमाण-पत्र प्रदान किया जाता है।

   
Design & Developed by Maa Guru Technology mob:9424714291