महाविद्यालय का सामान्य परिचय

महाविद्यालय का सामान्य परिचय दतिया एक प्राचीन नगरी है जिसे राजा दन्तवक्र ने बसाया था। उन्हीं के नाम पर आज इसका वर्तमान नाम ‘‘दतिया’’ प्रचलित है। दन्तवक्र द्वारा स्थापित एक प्राचीन शिवलिंग है जिसे दन्तवक्रेश्वर भी कहा जाता है। इस शिवलिंग को विद्वान महाभारत काल का प्रमाणित करते है। वर्तमान में दतिया मध्यप्रदेश का एक छोटा एवं खूबसूरत जिला है। दतिया शहर राष्ट्रीय राजमार्ग क्रमांक 75 तथा उत्तर मध्य रेलवे लाइन पर स्थित है। दतिया ग्वालियर से 75 किलोमीटर तथा झाँसी से 30 किलोमीटर दूरी पर है। मध्यप्रदेश शासन उच्च शिक्षा विभाग द्वारा संचालित यह महाविद्यालय 1958-59 से ही शासकीय संस्थान है। तद्न्तर विकास के अनेकों सोपानों को पार करता हुआ यह महाविद्यालय 1979-80 में स्नातकोत्तर तथा 1995-96 से स्वशासी घोषित हुआ। तत्पश्चात् 1999 में जिले का अग्रणी महाविद्यालय चिन्हित किया गया। संस्था को यू.जी.सी. अधिनियम के तहत 12बीं तथा 2 एफ में मान्यता प्राप्त है तथा यू.जी.सी. द्वारा समस्त वित्तीय सहायता उपलब्ध है। राष्ट्रीय मूल्यांकन एवं प्रत्यायन परिषद (NAAC) बैंगलोर द्वारा 2006 में निरीक्षण उपरान्त ‘‘B’’ ग्रेड प्रदान की गई पुनः 2013 में नेक रिव्यू उपरांत ग्रेड बी से नवाजा गया है। शैक्षणिक एवं अशैक्षणिक परिवार में लगभग 84 स्वीकृत पद है। विगत सत्र की छात्र/छात्राओं की संख्या लगभग 4500 है। यू.जी.सी. द्वारा गठित रिव्यू समिति के निरीक्षण उपरांत महाविद्यालय को स्नातक एवं स्नातकोत्तर स्तर पर सत्र 2016-17 तक स्वशासी व्यवस्था स्वीकृत की गई है। शासन द्वारा महाविद्यालय को सत्र 2009-10 मंे उत्कृष्ठ महाविद्यालय के रूप में विकसित करने के लिये प्रशासनिक एवं वित्तीय स्वीकृति प्रदान की गई जिस पर योजना अनुसार क्रियान्वयन जारी है।

About College :

Datia is an ancient city that was founded by king Danta Vakra. The Present name of this of this city is named ofter the name of that king. This city is situated at national Highway no 75 & at railway track between Gwalior (75Km) and Jhansi (30Km). Govt. (P.G.) College Datia is an autonomous institution under the governance of M.P. Govt.Higher education was started is 1958. The institution got its PG standard in 1979-80 autonomy in 1995-96 and status leading college of District  in 1999. It is also affiliated by UGC (Act 12B 2 F) geting UGC aid at different levels .NAAC graded this college as ‘B’ in 2006 and self study report is being submitted for review of the grade. This college is located in 10 acres having its hostel in 3 Acres.

            This is a leading  college of Datia District hawing the facility of arts, Science, Commerce and law. There are 84 sanction posts of academic & Non academic staff where in about 12 are vacant during this session 2012-13 in about 1702 students are admitted at first semester of UG & PG Standard and the the total  strength of regular students is about 4000. This college has also been declared as college of excellence in 2008-2009 for which it has got administrative & financial aid . For the review of autonomy UGC team has inspected this college in March 2012. This college has its automated compurised library whare the facility of enlisting is available. During this session M.P. Govt & Jiwaji University Gwalior has permitted to run six self financial courses i.e. BSc with Microbiology Bsc with Biotechnology, Bcom with Computer Application, BSc with Computer Science BA with functional English & MA in Geography. This college is the largest institution of co-education where all necessary  facilities that reading room, class rooms, furniture and laboratories with all equipments. It has a computer lab with internet facility

   
Design & Developed by Maa Guru Technology mob:9424714291